घुटने व जोड़ों के दर्द को ठीक करने के लिए करें अध मुख स्वान आसन

जोड़ों के दर्द के लिए और घुटनों के दर्द के लिए r2 मुख स्वासन सबसे जरूरी एक आसान है जिसे हम गठिया का रोग कहते हैं योग में पीछे मुड़कर करने वाले आसन को हम आधार मुख आसन कहते हैं सभी आयु वर्ग के लिए यह आसन एक फायदेमंद आसन है इस आसन में घुटने और घाटों के रोग के लिए रामबाण है ई शासन को करने का मतलब मुंह ऊपर की ओर और स्वास्थ में कुत्ते को कहा जाता है यानी कुत्ते के उठे हुए मुंह की तरह या आसन जाता है इससे पहले आसन के दूसरे स्वरूप को जानने और पहचाने हमारे लिए जरूरी है यह आसन कमर दर्द के लिए सबसे अधिक फायदेमंद होता है योग प्रशिक्षकों द्वारा इसे आसन को एक रामबाण आसन बताया गया है अब हम आपको बताने जा रहे हैं कि यह आसन हम कैसे करें सबसे पहले पेट के बल जमीन पर लेट जाएं गर्दन को ऊपर की ओर उठा ले हाथ के पंजों को कंधे के पास जमीन में उस अवस्था में रखें जिसमें शरीर को उठाने के लिए रखा जाता है जिससे हम डिप्स मारना भी कहते हैं अब हाथों के बल आगे के हिस्सों को उठाएं हाथों के कल के पंजों के बल पर शरीर को पूरा उठा दे हाथ एकदम सीधा हो जाएगा और आपका गर्दन ऊपर की ओर उठ जाएगा दीवार में या किसी पाइप में या बाद में अब दीवार की विपरीत दिशा में मुंह करके लेट जाए और पीछे की ओर उठे दोनों राशियों को पीठ के पीछे करके पकड़े हाथ ऊपर उठे होनी चाहिए इस तरह या पद्धति भी होती है पेट के नीचे तकिया रखें और उस पर सीधा पेट के बल लेट जाएं और हाथ को अपने जमीन पर के सीने को ऊपर की ओर उठाएं उठा ले जैसे जैसे आप पेट को ऊपर की ओर उठाएंगे यह एक प्रकार से इस टूल की तरह तैयार हो जाएगा जिस पर आपका होगा और स्टूल के योगदान है उनको अपने हाथों से पकड़ ले इसको करने से आपके शरीर में अकड़न से पीड़ित व्यक्तियों के लिए काफी लाभदायक है घुटने कमर और गठिया के रोग के लिए सबसे बेहतरीन तरीका है इससे आपका सीना फैलता है और फेफड़े के हिस्से और जाते हैं और पेट के अंदर जो रक्त का प्रवाह होता है वह बहुत तेजी से होने लगता है जिससे आपका शरीर स्वस्थ और निरोग हो जाता है इस प्राणायाम को करने से आपके अंदर रक्त का संचार घुटने और कमर के बीच से होकर गुजरता है जिससे आपका कमर घुटना सही हो जाता है