योग द्वारा गर्दन के दर्द को कैसे करें दूर गर्दन के दर्द के लिए ना करे लापरवाही नहीं तो हो सकता है आपको गंभीर रोग

आजकल गर्दन को लेकर एक नई समस्या बन गई है यह अक्सर इंसान को हो जाती है ऐसे कभी सोते वक्त गर्दन तक जाती है या फिर कभी अचानक गर्दन में अकड़न आ जाती है तो इसे लेकर के लापरवाही न करें यदि गर्दन में दर्द आपको हो जा रहा है और कई जगह पर हो रहा है तो एक ही रिचा मेरा तार सोने से या सोते वक्त भी कभी-कभी नशे आपस में मिल जाती हैं तो उनसे छुटकारा आप आसानी से पा सकते हैं इस समस्या को दूर करने के लिए आपको योग का 1 आसन शवासन करना होगा इस आसन में इंसान पुरुष या महिला को जमीन पर सीधे लेट जाना होता है और अपने पैरों को सीधा फैला ले अपने हाथों को पैरों की दिशा में सीधा रख दें इस आसन को यदि आप रोड दिल्ली योग करते हैं तो योग योग करने के बाद सबसे अंत में करें इस आसन से मांसपेशियों को गहरा एक विश्राम दिया जाता है फिर अपने पैरों को तक के नीचे एक तकिया रख दें और सर के नीचे एक चादर रखते हैं रख कर लेट जाएं कुछ देर तक आराम करें आपका गर्दन सही हो जाएगा यदि आप कमर दर्द के लिए परेशान है तो योग का एक आसन बालसन कहा जाता है उसे करें सबसे पहले आप अपने आप को घुटने के बल आगे की तरफ लेट जाएं शरीर का सारा भजन ऑडियो पर डाले गहरी सांस लेते हुए आगे की ओर झुक जाए अपना सीना अपने अंगों के बीच होते हुए आगे की तरफ झुका ले और जमीन पर रख दे कुछ सेकंड इस अवस्था में रहे और फिर जब आपको परेशानी होने लगे तो वापस अपनी व्यवस्था में बैठ जाएं आशा केवल गर्दन और पीठ के लिए ही आराम नहीं मिलता बल्कि हमारे मन को शांति मिलती है यह आसन हमारे जांघों और कूल्हों के लिए भी एक फायदेमंद है दूसरा कमर दर्द के लिए ही मर्जरी आसन होता है मर्जरी आसन का मतलब बिल्ली वाला इस आसन में शरीर को बिल्ली की आकृति का बना लेते हैं इसलिए इसे कहते हैं इस आसन में हमें सांस छोड़ना होता है और रीढ़ की हड्डियों को गोल करके अपने शरीर को नीचे की तरफ झुका देना होता है धीरे-धीरे अपने गर्दन को थोड़ी से रहते हैं इसको करने से रीढ़ की हड्डी और पेट की मालिश होगी साथ ही गर्दन के दर्द से छुटकारा मिल जाएगा तीसरा होता है सबसे पहले दोनों पैरों पर खड़े जाते हैं फिर अपने एक पैरों को और अपने एक पैरों को ऊपर उठा कर के अपने एक हाथ से पैरों पैरों को पैर को पकड़ लेते हैं यथासंभव आगे की तरफ जाएगा और दूसरे हाथ को सीधा स्ट्रेट फैला देते हैं जिससे आपकी मांसपेशियां मजबूत हो जाएगी और रक्त का संचार होने लगेगा फिर बीती लार्सन इस आसन में शरीर को घुटने के बल और आगे की तरफ दोनों हाथों को रखे जाते हैं और सर को ऊपर की दिशा में उठा लेते हैं जिससे हमारा धड़ ऊपर जाता है और कमर को थोड़ी आराम मिलता है